Lyrics

मेरे दुख की कोई दवा ना करो मेरे दुख की कोई दवा ना करो मुझको मुझसे अभी जुदा ना करो मेरे दुख की कोई दवा ना करो ना-ख़ुदा को "ख़ुदा" कहा है तो फिर ना-ख़ुदा को "ख़ुदा" कहा है तो फिर डूब जाओ, "ख़ुदा, ख़ुदा" ना करो डूब जाओ, "ख़ुदा, ख़ुदा" ना करो मेरे दुख की कोई दवा ना करो ये सिखाया है दोस्ती ने हमें ये सिखाया है दोस्ती ने हमें ये सिखाया है दोस्ती ने हमें दोस्त बन कर कभी वफ़ा ना करो दोस्त बन कर कभी वफ़ा ना करो मेरे दुख की कोई दवा ना करो इश्क़ है इश्क़, ये मज़ाक़ नहीं इश्क़ है इश्क़, ये मज़ाक़ नहीं चंद लम्हों में फ़ैसला ना करो चंद लम्हों में फ़ैसला ना करो मेरे दुख की कोई दवा ना करो आशिक़ी हो कि बंदगी, फ़ाकिर आशिक़ी हो कि बंदगी, फ़ाकिर आशिक़ी हो कि बंदगी, फ़ाकिर बे-दिली से तो इब्तिदा ना करो बे-दिली से तो इब्तिदा ना करो मेरे दुख की कोई दवा ना करो मुझको मुझसे अभी जुदा ना करो मेरे दुख की कोई दवा ना करो
Writer(s): Sudarshan Faakir, Jagjit Singh Lyrics powered by www.musixmatch.com
instagramSharePathic_arrow_out